Who Is Best indian UPI vs Americn Zelle



आप  जानते है की काफी Europe Countries  UPI  को अपना चुकी है ,इस में ये सवाल आता  है USA जैसे Countries क्या UPI को अपनाइए गई या नहीं ?  UPI - USA  के अंदर Dreact Enable नहीं हो पाएगा और कुछ लोग का अब्ब ये मानना होगा की  भाई USA के पास में तो Zelle है जो कि UPI से भी अच्छा है और UPI की जरूरत है भी नहीं, UPI  जैसे Appliction की ,  क्योंकि zelle,cash app ,venmo जैसे ऑप्शन्स है जो उनके पास जो  बैंक  से बैंक ट्रांसफर करने के लिए , अब तक global people को पुरे तरीके से समझ में नहीं आ रहा है कि जो भी है Actual में कितना  Difference  और ज्यादा  Innovative है ,तो आज मैं कंपेर करूँगा USA  का Zelle और हमारे देश का यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस यानी UPI,  पहले समझ लेते है कि दोनों नेटवर्क कैसे बने और इनको किस तरीके से डिजाइन किया जाता है 

UPI

तो UPI बेसिकली real time network है जो हमारी National Payments Corporation India चलाती है और Indian Bank Transaction करने के लिए UPI की मदद ली जा सकती है ,और फिर चाहे वो Individuals के बीच में हो Business के बीच में हो business to consumer हो किसी भी प्रकार से किसी भी मीडिया के जरिए हो सकती है

 Zelle

अगर बात कर रहे हैं Zelle की तो USA  की Leading bank के द्वारा develop किया गया एक platform है जहाँ पर एक ऐसा ही payment network बनाया गया है जो UPI की तरह है जो bank to bank transfer करने में मदद करता है UPI और  Zelle के अंदर कि similarities यही है कि  bank to bank transfer दोनों में available है और अभी डिफरेंस समझना शुरू करते है कि क्यों UPI  ज्यादा बेटर है

 पहली बात  UPI  non bank के लिए भी ओपन हैं जबकि  Zelle non bank के लिए ओपन नहीं है इसका मतलब यह है कि अगर कोई ऐसी कंपनी है USA के अंदर जो कि सीधे सीधे कोई बैंक नहीं है वो Account mantain नहीं करती है लेकिन उनको पेमेंट लेने पड़ते है देने पड़ते हैं consumer Facing उनका Busness है तो वो  Zelle को तब तक इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं जब तक वो अकाउंट से लिंक न हो और खुद के Plateform Use  नहीं कर सकते वो खुद केWebsite पे वो चीज़ नहीं कर सकते उनको redirection करने की जरूरत होगी 

लेकिन UPI में ऐसा नहीं है ,example अगर मैं आपको बताऊँ की Stock Markit cap sub यूज़ करते हो तो वहाँ पर कई बार आपको directly जो app आप यूज़ कर रहे हो वो आपका अपना खुद का UPI ऑप्शन नजर आ जाएगा जबकि वो कोई बैंक नहीं है, दूसरा जो डिफरेंस निकाल के रखा है वो एक बहुत बड़ा गेमचेंजर निकल के रहता है weekly transaction limit, 

 Zelle आज भी एक wallet base app है जहाँ पर आप अपने बैंक में से वॉलेट में पैसे डालते हो जब वो किसी को ट्रांसफर करते हो तो सामने वाले के वॉलेट में जाते हैं जो की वो निकलवा सकते हो , लेकिन  Zelle में डाइरेक्टली एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसा जाता है लेकिन उसके ऊपर लिमिट है जैसे  UPI में daily एक लाख रुपए की लिमिट है एक हफ्ते की सात लाख और कुछ केसेस में इंटेक के लिए तो कोई लिमिट नहीं है

 इसके comparison में  Zelle में डिपेंडिंग ऑन बैंक डिपेंडिंग क्रेडिट हिस्टरी और कई चीज़ो के हिसाब से आपको $500 डॉलर से लेकर $3000 डॉलर तक की weekly लिमिट मिल सकती है जो UPI इंडियन करंसी के हिसाब से भी बहुत कम है इसके अलावा जो बिज़नेस है उनको यहाँ पर इनटेक की तो लिमिट नहीं है लेकिन वो request किसने भेज सकते हैं UPI  के जरिए उसकी लिमिट लगाई गई हैं जैसे अगर आप zomato का ऑर्डर करते हो या कही फ्लाइट बुक करते हो तो आप UPI sealect करने के बाद में directly  की आपकी UPI आपको नोटिफिकेशन आ जाता है तो वैसे नोटिफिकेशन भेजने का लिमिट है  Zelle में कंपनीज के लिए ,UPI  में नहीं है

 वैसे तो पिछले कुछ साल जो देश में इन्वेस्टमेंट बड़ी है उसके लिए भी UPI  काफी हद तक जिम्मेदार है लेकिन आज भी अनफारचुनेटली देश में होता यह है कि इन्वेस्टमेंट करना ईज़ी तो हो गया है लेकिन जो एडवाइस ली जाती है इन्वेस्टमेंट के लिए वो आज भी ज्यादातर लोग फ्रेंड्स का लीज और ऐसे लोगों से लेते हैं जिनकी एक्स्पर्टीज़ नहीं है इन्वेस्टमेंट फील्ड के अंदर जिसकी वजह से ये पैसे लूज़ करने की प्रोबेबिलिटी ज्यादा बढ़ जाती है और आपको अपने इन्वेस्टमेंट को प्लान करने के लिए ज्यादा ऑप्शंस नज़र नहीं आते 

अगला जो पॉइंट निकल गए डिफेंस का वो है इंट्रोपरेबिलिटी ऑफ UPI  ,UPI  सिर्फ और सिर्फ ट्रांसफर से काम नहीं आता है UPI बाकी कई चीजों के अंदर इस्तेमाल से फरजाम पल जब आप आईपीएस के लिए अप्लाई करते हो तो इन्वेस्टमेंट मैनडेट सब बना सकते हो जो की बेसिकली ऐसा होता है की फ्यूचर प्रॉमिस डेट पेमेंट है जो कि डाइरेक्टली नहीं करता है जब सामने वाली पार्टी एक्सेप्ट करेगी तब करता है ईज़ ऑफ UPI के जरिए करा सकते हो आप जो हैं लोन भी UPI के जरिए जो है ट्रैक कर सकते हो वंकलिक पेमेंट पीओएस टर्मिनल पे आजकल आपने देखा होगा जो टच स्क्रीन मशीन आती है कार्ड स्वाइप करने की वहाँ पर


 डाइरेक्टली मशीन के अंदर क्यूआर कोड आता है जो स्कैन करने पर वोट मिला जीस बैंक अकाउंट से लिंक्ड है उसके अंदर रूपया पेमेंट कर सकते हैं  Zelle में ये सब नहीं होता अगला जो बहुत डिफरेंस निकाल के रखा है UPI के बीच में वो है ट्रांजैक्शन इनिशिएशन जैसे मैंने कुछ टाइम पहले कहा की जो सामने वाला बिज़नेस है उनको लिमिट है की वो कितने रिक्वेस्ट भेज सकती हैं लेकिन UPI में ऐसा नहीं है UPIमें फिर चाहे वो आपसे अपनी यु पी आई डी नंबर या फिर डाइरेक्टली अपनी वेबसाइट पर एक क्यूआर कोड को उन्हें दिखा है ये जो आप कह सकते हो पेमेंट इनिशिएशन वाला काम है वो कितना भी हो सकता है और यह एक बहुत बड़ा मेजर बनता है स्पेसिफिकल्ली ई कॉमर्स या फिर आप कैसे हो जो सर्विस होती इन्स्टैंट वाली वो टाइप के बिज़नेस के लिए  Zelle में ये नहीं होता और ये डिफरेंट होता है

 ऐप्स के अंदर  Zelle अकेला ऐप है और उनका जो नेटवर्क है बैंक का वो कोई इस्तेमाल नहीं कर सकता है UPI का नेटवर्क जो है वो ओपन हैं खुला है और छोटे से छोटी बड़ी से बड़ी बैंक यहाँ पे कर सकती है आप एस इंडीविजुअल खुद UPI डेवलप कर सकते हैं जो कि चलेगा या फिर आज जैसे मार्केट में पेटीएम गूगलपे फोनपे वैसे कई सारे जो बड़े बड़े ऐप्स है वो भी डेवलप किए जा सकते हैं बिना किसी रजिस्ट्रेशन के  Zelle में छोटे प्लेस जो है पूरी तरीके से कि डाउट है इसके अलावा  Zelle में जो छोटे मर्चेंट है जिनकी ट्रांजैक्शन वैल्यू अराउंड ट्वेंटी फाइव थाउज़न्ड डॉलर से कम होती है

 उनको चार्जेज देने पड़ते हैं उनके  Zelle में से पैसे बैंक में ट्रांसफर करने के लिए और जो वीकली ये बताइए लिमिट आती है बैंक ट्रांसफर की वो तो लगी ही इसके लिए UPI की तरह  Zelle से पैसा प्रिफर करना बिज़नेस के लिए मुश्किल बनता है लेकिन क्योंकि अमेरिकन बिज़नेस ऑलरेडी जो कार्ड होता है वीज़ा मास्टरकार्ड उनकी फीस से हैबिचुअल है तो उनको इतना ये फरक नहीं पड़ता अगला जो डिफरेंस आता है फिर उसे वो आता है सारे बैंक के UPI  के ऊपर नेबल होने से रिलेटेड जो कि  Zelle में नहीं होता

  Zelle में है अगर आप जो बड़ी बैंक से यहाँ पे असोसिएट की गई है उनकी बातें मानते हुए उनके टर्म्स ऐंड कंडिशन्स मानते हो तो उसके ऊपर अवेलेबल हो सकते हो इंडिया में ऐसा नहीं है कोई कॉरपोरेटिव बैंक से चार पांच ब्रांच है वो भी यू पे आ सकती है कोई ऐसी कंपनी है जो की अभी आप जैसे इंडिया ट्रेन चल रहा है इंस्टैंट लोन का बिना फिल्टर का वो UPIका नेटवर्क डाइरेक्टली यूज़ कर सकते हैं बिना किसी थर्ड पार्टी के UPI के अंदर अगर कोई ऐसा पर्सन है जो किसी रिमोट एरिया के अंदर बिज़नेस कर रहे हैं और अपनी वेबसाइट के ऊपर यू कैन एबल ट्रांज़ेक्शन शुरू करना चाहते हैं फ्री में वो भी वो कर सकता है

  Zelle  में ये नहीं हो सकता जब तक आप टर्म्स ऐंड कंडिशन्स एग्री नहीं करते प्राइवेट कंपनीज़ के और कई बार ये चार्जेबल भी होते हैं और ये है मेजर डिफरेंस UPI के बीच में UPI  कॉम्पिटिशन को बढ़ाता है जबकि  Zelle एक कन्वीनियेंट सर्कल है जिसके अंदर UPI के जो कंज्यूमर फेसिंग बेनिफिट है उनको तो फायदा दिलाया जा रहा है लेकिन जो नेगेटिव ज्यादा है अच्छी खासी कॉम्पिटिशन की मार्केट को लेबल फील्ड बनाने के वो एलिमिनेट कर दिए गए हैं और ये डिफरेंस है जल और UPIके बीच में और मैंने पिछले वीडियो में कहा था 

वैसे की UPI  कहीं ना कहीं पर अमेरिकन बिज़नेस को तकलीफ दे सकती है बड़े कंपनीज बड़े बैंक को और यही चीज़ है  Zelle के जरिए उन्होंने एलिमिनेट करने की कोशीश की है उम्मीद करता हूँ आपको सवाल का जवाब मिल गया होगा मिलेंगे अगले वीडियो में आपको फिर से याद दिलाना चाहूंगा कि आपके पैसे एक्स्पर्ट के जरिए मैनेज करने के लिए आप यूज़ कर सकते हो डिज़र्व जिसके लिए आपको डिस्कशन में लिंक मिल जाएगा तो उसे चेक आउट करना बिल्कुल भी ना बोले

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.